One Time Password (OTP) क्या है? पूरी जानकारी हिंदी में

अगर आपको नहीं पता कि One Time Password या  OTP क्या होता है तो इस लेख में हम विस्तार से जानेंगे। जब भी हम कोई ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करते हैं, UPI ID जेनरेट करते हैं या क्रेडिट या डेबिट कार्ड से खरीदारी करते हैं, तो हमें एक वेरिफिकेशन कोड मिलता है जिसे हम OTP कहते हैं, OTP कन्फर्म होने के बाद ही हमारा ट्रांजेक्शन सफल हो पाता है।

Also Read: Artificial Intelligence Kya hota hai

आज के डिजिटल युग में बहुत सारे काम ऑनलाइन हो जाते हैं चाहे वह खरीदारी हो, पैसे निकालना हो, बिजली का बिल भरना हो या मोबाइल रिचार्ज करना हो। अधिकांश लेनदेन में हमें ओटीपी की आवश्यकता होती है। बहुत से लोग ऑनलाइन शॉपिंग या लेनदेन करते समय सुरक्षा की चिंता करते हैं, इसलिए बैंक अपने ग्राहकों को ऑनलाइन फ्रॉड से बचाने के लिए ट्रांजैक्शन करते समय उनके मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजते हैं ताकि ट्रांजेक्शन में कोई लीकेज न पाए।

One Time Password (OTP) क्या होता है? |  OTP meaning in Hindi

ओटीपी का मतलब है One Time Password यह एक सुरक्षा कोड है जो आम तौर पर 6 अंकों का होता है जब भी हम अपने क्रेडिट या डेबिट कार्ड के साथ ऑनलाइन खरीदारी करते हैं, कार्ड डिटेल भरने के बाद ट्रांसेक्शन की पुष्टि के लिए बैंक के साथ आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ओटीपी कोड आता है और OTP डालने के बाद ही आपका ट्रांसेक्शन सफल हो पाता है।

Also Read: e-Rupi Kya Hota Hai

ओटीपी के बारे में मुख्य बातें

OTP एक ऐसा कोड होता है जिसे केवल एक बार ही इस्तेमाल किया जा सकता है इस्तेमाल लिए हम उसे One Time Password कहते है।

OTP केवल थोड़े समय के लिए वैध होता है, कभी-कभी यह 10 मिनट के लिए वैध होता है, कभी-कभी केवल कुछ मिनटों के लिए। यदि OTP की वैधता समाप्त हो जाती है, तो आपको एक नए OTP की आवश्यकता हो होती है जिसे आप Resend OTP का ऑप्शन सेलेक्ट करके नया OTP अपने मोबाइल नंबर पर मंगवा सकते है।

OTP न केवल यूपीआई आईडी बनाने के लिए, लेनदेन करने के लिए बल्कि कई वेबसाइटें आपके मोबाइल या ईमेल आईडी को सत्यापित करने के लिए भी ओटीपी भेजती हैं ताकि वे जान सकें कि आपके द्वारा दर्ज किया गया मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी कहीं नकली तो नहीं है।

हर बार ओटीपी सबके लिए अलग-अलग जेनरेट होता है।

OTP full form in Hindi 

OTP ka full form One Time Password होता है. हिंदी में जिसे हम एक बार इस्तेमाल किया जाने वाला पासवर्ड कहते है। 

ओटीपी के प्रकार

ओटीपी प्राप्त करने के तीन तरीके

  • Message (SMS) OTP
  • Voice Calling OTP
  • Email OTP

Message – मोबाइल पर मैसेजिंग के जरिए ओटीपी भेजना सबसे आसान और सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला तरीका है, चाहे आप कोई भी ट्रांजैक्शन करें, यूपीआई आईडी बनाएं या सिम पोर्ट करें, सभी में आपके नंबर पर ओटीपी जरूर आता है।

Email – ईमेल के माध्यम से ओटीपी भेजना सबसे अधिक उपयोग किए जाने वाले तरीकों में से एक है। जब हम किसी वेबसाइट पर अकाउंट बनाते हैं, तो ज्यादातर आपका ईमेल ही मांगा जाता है, कई वेबसाइटें ओटीपी भेजती हैं या आपके ईमेल को कन्फर्म करने के लिए लिंक भेजती हैं। हालाँकि, अधिकांश वेबसाइटें ईमेल की पुष्टि के लिए एक लिंक भेजती है।

Voice Calling – अब तो कई वेबसाइटों ने लोगों की सुविधा के लिए ईमेल और एसएमएस के अलावा वॉयस कॉलिंग के जरिए भी ओटीपी देना शुरू कर दिया है। अब आप वेबसाइट पर दिए गए नंबर पर कॉल करके भी OTP प्राप्त कर सकते है।

OTP का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?

जब भी हम किसी वेबसाइट पर अपना अकाउंट बनाते हैं तो उसमें लॉग इन करने के लिए हमें यूजरनेम और पासवर्ड की जरूरत पड़ती है, जिसे कोई हैकर हैक कर सकता है या आपका यूजरनेम और पासवर्ड जानने वाला व्यक्ति भी इसका गलत फायदा उठा सकता है। इसलिए जब भी हम ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं तो ऑनलाइन पेमेंट करते समय बैंक आपके मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजता है ताकि पता चल सके कि आप यह पेमेंट कर रहे हैं।

दूसरा, कई वेबसाइटें आपके मोबाइल नंबर को सत्यापित करने के लिए ओटीपी भेजती हैं, ताकि वे जान सकें कि आपने जो मोबाइल नंबर डाला है वह आपका है या नहीं।

OTP के फायदे – Advantages of OTP in Hindi 

प्रत्येक लेनदेन के लिए आपके मोबाइल नंबर पर एक नया ओटीपी भेजा जाता है, और इसकी वैधता केवल कुछ ही मिनटों की होती है, जिससे हमारा लेनदेन बहुत सुरक्षित हो जाता है।

सेक्युरिटी के लिए – OTP आपको डबल लेयर सुरक्षा प्रदान करता है, भले ही आपका यूजरनाम और पासवर्ड गलती से चोरी हो गया हो, फिर भी कोई भी आपके खाते का OTP के बिना गलत लाभ नहीं उठा सकता है।

ओटीपी का सबसे बड़ा फायदा यह है कि अगर आप अपने अकाउंट का यूजरनेम या पासवर्ड भूल जाते हैं तो आप फॉरगेट पासवर्ड पर क्लिक करके ओटीपी के जरिए नया यूजरनेम और पासवर्ड बना सकते हैं।

आजकल ईमेल का महत्व बहुत बढ़ गया है, भले ही आपके ईमेल का पासवर्ड लीक हो गया हो, यदि आपके अकाउंट में टू स्टेप वेरिफिकेशन ऑन हो, फिर भी बिना ओटीपी के कोई भी आपके जीमेल का गलत इस्तेमाल नहीं कर सकता है।

ओटीटी कंपनियों को अपने ओरिजनल उपयोगकर्ताओं की पहचान करने में मदद करता है।

OTP का इस्तेमाल कहाँ- कहाँ किया जाता है?

OTP के उपयोग

देखा जाए तो आजकल हर जगह ओटीपी का इस्तेमाल हो रहा है, लेकिन ज्यादातर ओटीपी का इस्तेमाल नेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग या ट्रांजैक्शन करते वक्त किया जाता है।

इसके अलावा आपने टू स्टेप वेरिफिकेशन के बारे में सुना होगा. जिसे शुरू करने के बाद आपकी जीमेल आईडी और सिक्योर हो जाती है, यदि आपको ये जीमेल आईडी किसी दूसरे फ़ोन चलानी है तो पहले आपके मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजा जाता है, उसके बाद ही आप अपनी जीमेल आईडी का इस्तेमाल दूसरे मोबाइल में कर सकते हैं।

Amazon, Flipkart, Snapdeal जैसी सभी ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइटों और Google Pay, PhonePe और Paytm जैसी सभी भुगतान संबंधित कंपनियों में OTP का उपयोग किया जाता है।

निष्कर्ष (Conclusion)

OTP आपके लेन-देन को सुरक्षित बनाने का सबसे आसान तरीका है, यह आपको साइबर क्राइम से बचाता है। अंत में मैं यहां यही कहना चाहूंगा कि आप अपने मोबाइल नंबर पर आए ओटीपी को कभी किसी को न बताएं।

हम आशा करते हैं कि आप One Time Password (OTP) क्या है, समझ गए होंगे।

लगातार पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न 1- OTP का फुल फॉर्म क्या होता है?

OTP का फुल फॉर्म “One Time Password” होता है, हिंदी में जिसे हम एक बार इस्तेमाल किया जाने वाला पासवर्ड कहते है।

प्रश्न 2- OTP कितने अंक का होता है?

वैसे देखा जाए तो OTP 6 अंको का होता है, लेकिन यह 4 अंको का भी हो सकता है ये निर्भर करता है कि ओटीपी कहा से प्राप्त हो रहा है।

प्रश्न 3- OTP का मतलब क्या होता है?

OTP का मतलब होता है “One Time Password” या एक एसा पासवर्ड जिसे केवल एक बार ही इस्तेमाल किया जा सकता है। यह आपकी सुरक्षा के लिए ट्रांसेक्शन करते समय भेजा जाता है और कई वेबसाइटें आपके मोबाइल नंबर की पुष्टि के लिए भी OTP भेजती है।

Home: HindiGyyan

1 thought on “One Time Password (OTP) क्या है? पूरी जानकारी हिंदी में”

Leave a Comment