IAS गौरव अग्रवाल का जीवन परिचय। | IAS Gaurav Agrawal Biography In Hindi

IAS गौरव अग्रवाल का जीवन परिचय।, IAS Gaurav Agrawal Biography, Education, Age, Family, Wife, Wiki in Hindi

IAS गौरव अग्रवाल कौन हैं?

आईएएस टॉपर गौरव अग्रवाल को भारत में सबसे प्रतिष्ठित परीक्षा को क्रैक करने के लिए जाना जाता है. 15 अगस्त 1984 को राजस्थान में जन्मे गौरव अग्रवाल 2014 सिविल सर्विसेज परीक्षा (UPSC) के टॉपर थे।

गौरव अग्रवाल का जीवन उतार-चढ़ाव भरा रहा है. कई विषयों में अनुत्तीर्ण होने के कारण उन्हें IIT कानपुर से डिग्री प्राप्त करने में बहुत कठिनाई हुई थी।

IAS गौरव अग्रवाल का जीवन परिचय

IAS Gaurav Agrawal Biography In Hindi
IAS Gaurav Agrawal Biography In Hindi
पूरा नामगौरव अग्रवाल
जन्म   15 अगस्त 1984
आयु/उम्र 37 वर्ष 
जन्म स्थानभरतपुर, राजस्थान
पेशा आईएएस {IAS}
धर्म हिंदू धर्म
राष्ट्रीयता भारतीय
अवार्ड राष्ट्रपति द्वारा गोल्ड मैडल
पिता का नामएस सी गुप्ता
माता का नामसुमन गुप्ता
पत्नी का नामडॉ. प्रीति अग्रवाल
भाई-बहनज्ञात नहीं
बच्चे एक बेटी

IAS गौरव अग्रवाल का जीवन परिचय। | IAS Gaurav Agrawal Biography In Hindi

गौरव अग्रवाल का जन्म 15 अगस्त 1984 को राजस्थान में हुआ था. उनके पिता का नाम एससी गुप्ता है जो जयपुर डेयरी के प्रबंधक हैं. उनकी मां सुमन गुप्ता गृहिणी हैं. उनकी पत्नी गरिमा डॉक्टर हैं. वह विराट कोहली के बहुत बड़े प्रशंसक हैं और उन्हें क्रिकेट बहुत पसंद है। (1)

गौरव अग्रवाल की शिक्षा

गौरव अग्रवाल की प्रारंभिक शिक्षा जयपुर में हुई, IAS गौरव अग्रवाल ने 16 साल की उम्र में सबसे कठिन इंजीनियरिंग परीक्षा उत्तीर्ण की और IIT JEE-2001 में AIR 45 रैंक हासिल की. उन्होंने साल 2005 में आईआईटी कानपुर से कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन किया था. हालांकि, गौरव अग्रवाल आईआईटी कानपुर में फेल हो गए थे और इस प्रकार जो बीटेक की डिग्री चार साल में पूर्ण होनी थी उसे प्राप्त करने में उन्हें ज्यादा समय लगा।

फिर उन्होंने 21 साल की उम्र में भारत में सबसे कठिन एमबीए परीक्षा उत्तीर्ण की और कैट 2005 में 99.94 अंक प्राप्त किए. उन्होंने आईआईएम-लखनऊ से वित्त में प्रबंधन पूरा किया और अकादमिक उत्कृष्टता के लिए स्वर्ण पदक प्राप्त किया।

करियर

IAS तक गौरव का सफर {Journey of Gaurav Aggarwal to become IAS}

वित्त में प्रबंधन पूरा करने के बाद, वह एक निवेश बैंकर के रूप में काम करने के लिए हांगकांग चले गए. छह साल तक उन्होंने विदेश में काम किया और वित्त के क्षेत्र में अपने कौशल के लिए कई पुरस्कार जीते. यहीं से पहली बार उनकी आईएएस बनने की ख्वाहिश जागी।

गौरव अग्रवाल ने भारत के लोगों की सेवा करने के लिए अच्छी तनख्वाह वाली नौकरी छोड़ दी और 2012 मे वह भारत लौट आए और UPSC की परीक्षा की तैयारी करने का निर्णय लिया. उन्होंने पहले ही प्रयास में यूपीएससी पास कर लिया और आईपीएस अधिकारी बन गए. गौरव इससे भी संतुष्ट नहीं थे, उन्हें तो आईएएस अधिकारी बनना था, इसलिए उन्होंने UPSC परीक्षा में पुनः बैठने का निर्णय लिया, और दूसरी बार न केवल उन्होंने टॉप किया बल्कि चार सालों से चले आ रहे लड़कियों के रूतबे को भी खत्म किया. गुरव अग्रवाल ने टॉप करने के साथ ही अपने सपनों को भी साकार कर लिया।

गौरव वर्तमान में एक सीईओ जिला परिषद, करौली राजस्थान के रूप में कार्यरत हैं।

IAS गौरव अग्रवाल के जीवन से हमें कई सबक मिलते हैं कि आत्मविश्वास, दृढ़ संकल्प और निरंतर प्रयास से कोई भी कुछ भी हासिल कर सकता है।

हम आशा करते हैं कि आपको “IAS गौरव अग्रवाल का जीवन परिचय। | IAS Gaurav Agrawal Biography In Hindi” पोस्ट पसंद आई होगी. यदि आपको हमारी यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते हैं।

Leave a Comment