वाणिज्यिक बैंक (Commercial Bank) क्या है और इसके कार्य क्या हैं? | वाणिज्यिक बैंकों के प्रकार

वैसे तो बैंक कई प्रकार के होते हैं जैसे वाणिज्यिक बैंक, स्मॉल फाइनेंस बैंक, पेमेंट्स बैंक और सहकारी बैंक, लेकिन आज के लेख में हम अर्थव्यवस्था के लिए सबसे महत्वपूर्ण वाणिज्यिक बैंकों के बारे में चर्चा करेंगे।

इस लेख में, हम जानेंगे कि वाणिज्यिक बैंक क्या होते है और इसके कार्य क्या हैं?

वाणिज्यिक या व्यापारिक बैंक क्या है? | What is Commercial Banks in Hindi

Vanijya Bank Kya hai
Vanijya Bank Kya hai

वाणिज्यिक या व्यापारिक बैंक वित्तीय संस्थान होते हैं जो जनता से जमा स्वीकार करते हैं और लाभ कमाने के लिए लोगों को निवेश या व्यवसाय के लिए ऋण वितरित करते हैं।

उदाहरण – पंजाब नेशनल बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक, सिटी बैंक इंडिया आदि।

प्रमुख बिंदु (key points)

  • वाणिज्यिक बैंक व्यक्तियों और व्यवसायों को जमा खाते और ऋण जैसी बैंकिंग सेवाएं प्रदान करते हैं।
  • वाणिज्यिक बैंक अर्थव्यवस्था के लिए महत्वपूर्ण होते हैं क्योंकि वे अर्थव्यवस्था में पूंजी और तरलता बनाते हैं।
  • वाणिज्यिक बैंक विभिन्न प्रकार के शुल्कों और विभिन्न प्रकार के ऋणों जैसे ऑटो लोन, व्यवसाय लोन और व्यक्तिगत लोन से ब्याज आय से पैसा कमाते हैं।

Also Read: सरकारी बजट क्या है, इसके प्रकार और उद्देश्य क्या होते है?

  • व्यापारिक बैंक का प्रमुख कार्य जनता से जमा स्वीकार करना और फिर उस धन को लोगों या व्यवसायों को लाभ कमाने के लिए ऋण के रूप में देना है।
  • भारत में बैंकिंग क्षेत्र को भारतीय रिजर्व बैंक अधिनियम 1934 और बैंकिंग विनियमन अधिनियम 1949 द्वारा नियंत्रित किया जाता है।
  • वाणिज्यिक बैंक में सार्वजनिक बैंक, प्राइवेट बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (आरआरबी) और विदेशी बैंक आते है।

वाणिज्यिक बैंकों के प्रकार (Types of Commercial Banks in Hindi)

  • सार्वजनिक या रास्ट्रीयकृत बैंक 
  • प्राइवेट बैंक 
  • क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (आरआरबी)  
  • विदेशी बैंक

सार्वजनिक या रास्ट्रीयकृत बैंक – सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक (PSB) वे होते हैं जिनमें बहुमत हिस्सेदारी (अर्थात 50% से अधिक) सरकार के पास होती है। सितंबर 2021 तक, भारत में कुल 12 सार्वजनिक या राष्ट्रीयकृत बैंक मौजूद हैं।

सरल शब्दों में वे बैंक जो सरकार के स्वामित्व में होते हैं, सार्वजनिक बैंक कहलाते हैं।

उदाहरण – स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, पंजाब नेशनल बैंक आदि।

प्राइवेट बैंक – निजी बैंक ऐसे बैंक होते हैं जो या तो व्यक्तियों के स्वामित्व में होते हैं, या संस्थानों के समूह के स्वामित्व में होते हैं।

सरल शब्दों में, जिन बैंकों में 50% से अधिक हिस्सेदारी निजी क्षेत्र की होती है उंन्हे हम प्राइवेट बैंक कहते है। सितंबर 2021 तक, भारत में कुल 20 निजी बैंक मौजूद हैं।

उदाहरण – एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक आदि।

क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (आरआरबी) – क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (आरआरबी) भी सरकारी बैंक होते हैं क्योंकि वे वित्त मंत्रालय के स्वामित्व में आते हैं, जो भारत के विभिन्न राज्यों में क्षेत्रीय स्तर पर काम करते हैं।

जो बुनियादी बैंकिंग और वित्तीय सेवाओं जैसी सुविधाओं के लिए ग्रामीण क्षेत्रों की सेवा के लिए बनाए गए थे। हालांकि, आरआरबी की शहरी शाखाएं भी मौजूद हैं।

उदाहरण – आंध्र प्रदेश ग्रामीण विकास बैंक, हिमाचल प्रदेश ग्रामीण बैंक, केरल ग्रामीण बैंक, आर्यावर्त बैंक आदि।

विदेशी बैंक – एक विदेशी बैंक एक प्रकार का अंतर्राष्ट्रीय बैंक होता है जिसका मुख्यालय दूसरे देश में होता है, लेकिन विभिन्न देशों में उसकी शाखाएं होती हैं।

एक विदेशी बैंक घरेलू और जहाँ उसकी शाखाएं है दोनों देशों के नियमों का पालन करने के लिए बाध्य होता है। वर्तमान में, RBI के अनुसार (14 जुलाई, 2020 तक) भारत में कुल 46 विदेशी बैंक कार्यरत हैं।

उदाहरण – बैंक ऑफ चाइना, अबू धाबी, बैंक ऑफ अमेरिका, सिटी बैंक इंडिया आदि।

वाणिज्यिक बैंक के कार्य (Functions of commercial banks in Hindi)

बैंकों के दो प्रकार के कार्य हैं:

  • प्राथमिक कार्य (Primary Functions)
  • सेकेंडरी कार्य (Secondary Functions)

प्राथमिक कार्य (Primary Functions)

वाणिज्यिक बैंक विभिन्न प्रकार के जमा स्वीकार करते हैं जैसे बचत खाता जमा, चालू खाता जमा, रेकररिंग एकाउंट डिपॉजिट और फिक्स्ड एकाउंट डिपॉजिट। ये जमा राशि ग्राहक को उनकी मांग के अनुसार कुछ समय बाद वापस कर दी जाती है।

वाणिज्यिक बैंक विभिन्न प्रकार के ऋण प्रदान करते हैं जैसे कि ऑटो लोन, एजुकेशन लोन, व्यवसाय लोन और व्यक्तिगत लोन आदि।

वाणिज्यिक बैंक विभिन्न रूपों में advances देते हैं, जिसमें ओवरड्राफ्ट सुविधा, नकद ऋण, बिल छूट, मनी एट कॉल आदि शामिल हैं।

सेकेंडरी कार्य (Secondary Functions)

Secondary Functions को भी दो भागों में वर्गीकृत किया गया है:

  • एजेंसी फंक्शंस
  • यूटिलिटी फंक्शंस

एजेंसी फंक्शन

  • पोर्टफोलियो प्रबंधन – बैंक अपने ग्राहकों की ओर से शेयर, बांड और डिबेंचर खरीदते और बेचते हैं।
  • धन का हस्तांतरण – बैंक एक शाखा या स्थान से दूसरी शाखा में धन हस्तांतरित करते हैं।
  • भुगतान – बैंक अपने ग्राहक की ओर से बिजली बिल, गैस बिल, किराए आदि जैसे भुगतान करते हैं।
  • धन संग्रह – बैंक अपने ग्राहकों की ओर से पेंशन, वेतन और लाभांश एकत्र करते हैं।
  • अन्य कार्य – बैंक ग्राहक के, executor, प्रशासक, सलाहकार आदि के रूप में भी कार्य करता है।

यूटिलिटी फंक्शन

  • सुरक्षित जमा तिजोरी या लॉकर प्रदान करना।
  • विदेशी मुद्रा में डील करना।
  • समाज कल्याण कार्यक्रम
  • अपने ग्राहकों की ओर से गारंटी देना।

बैंकों के उत्पाद

  • बचत खाता
  • चालू खाता
  • आवर्ती खाता (Recurring Account)
  • निश्चित खाता (Fixed Account)
  • बीमा 
  • विभिन्न प्रकार के ऋण
  • कोषागार प्रबंधन
  • चेक (Cheque)
  • क्रेडिट कार्ड
  • डेबिट कार्ड
केंद्रीय बैंक और वाणिज्यिक बैंक के बीच अंतर

सेंट्रल बैंक सर्वोच्च वित्तीय संस्थान है जो मौद्रिक नीति तैयार करता है, वाणिज्यिक बैंकों को नियंत्रित करता है। दूसरी ओर, वाणिज्यिक बैंक एसा वित्तीय संस्थान हैं जो लोगों को बैंकिंग सेवाएं प्रदान करते हैं।

हर देश में केंद्रीय बैंक केवल एक ही होता है लेकिन वाणिज्यिक बैंक कई होते हैं।

केंद्रीय बैंक कभी भी मुनाफे के लिए काम नहीं करता है, यह केवल अर्थव्यवस्था में मुद्रा आपूर्ति को नियंत्रित करता है। वहीं दूसरी ओर वाणिज्यिक बैंक केवल मुनाफे के लिए ही काम करते है।

केंद्रीय बैंक सरकार के स्वामित्व में रहता है जबकि दूसरी ओर वाणिज्यिक बैंक सरकारी और निजी दोनों हो सकते हैं।

वाणिज्यिक बैंकों का महत्व (Importance of Commercial Banks in Hindi)

बैंक अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी होते हैं। बैंक सबसे महत्वपूर्ण संस्थान होते हैं जो किसी राष्ट्र के समग्र आर्थिक विकास को विनियमित करने में मदद करते हैं। बैंक ऋण के माध्यम से अर्थव्यवस्था को तरलता प्रदान करते हैं, जो अर्थव्यवस्था में विकास को गति देता है।

बैंकों के माध्यम से केंद्रीय बैंक अर्थव्यवस्था को स्थिर रखता है।

वाणिज्यिक या कमर्शियल बैंक कैसे काम करते हैं?

वाणिज्यिक बैंक लोगों और व्यवसायों को बचत खाता, चालू खाता, ऋण आदि जैसी बुनियादी बैंकिंग सुविधाएं प्रदान करते हैं।

वाणिज्यिक बैंक न्यूनतम शेष शुल्क, विलंब शुल्क और ऋण पर ब्याज से मुनाफा कमाते हैं।

पहले, वाणिज्यिक बैंकों में, सभी काम उनकी भौतिक शाखाओं में किया जाते थे, लेकिन जैसे-जैसे तकनीक विकसित हुई है, बहुत सारे काम ऑनलाइन हो गए हैं, चाहे वह चेक बुक के लिए आवेदन करना हो, क्रेडिट या डेबिट कार्ड के लिए आवेदन करना हो आदि।

वाणिज्यिक बैंक और इन्वेस्टमेंट बैंक के बीच अंतर

वाणिज्यिक और इन्वेस्टमेंट बैंक दोनों ही अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। वाणिज्यिक बैंक व्यक्तियों और व्यवसायों को बैंकिंग सेवाएं प्रदान करते हैं, दूसरी ओर इन्वेस्टमेंट बैंक बड़ी कंपनियों और संस्थागत निवेशकों को बैंकिंग सेवाएं प्रदान करते हैं।

विश्व के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंक

बैंक का नाम – कुल संपत्ति (2020) (US$ बिलियन)

  • इंडस्ट्रियल एंड कमर्शियल बैंक ऑफ चाइना – 4,324.27
  • चीन निर्माण बैंक – 3,653.11
  • चीन का कृषि बैंक – 3,572.98
  • जेपी मॉर्गन चेस – 3,386.00
  • बैंक ऑफ चाइना – 3,270.15
Commercial Bank कौन-कौन से है?

Commercial Bank में सार्वजनिक बैंक, प्राइवेट बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (आरआरबी) और विदेशी बैंक आते है। सभी Commercial बैंकों के नाम नीचे दिए गए है।

वाणिज्यिक बैंकों के नाम: List of all commercial banks in India in Hindi 

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक

भारत के राष्ट्रीयकृत बैंकों के नाम – मुख्यालय

  • पंजाब नेशनल बैंक (ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया के साथ विलय) – नई दिल्ली
  • इंडियन बैंक (इलाहाबाद बैंक के साथ विलय) – चेन्नई
  • भारतीय स्टेट बैंक – मुंबई
  • केनरा बैंक (सिंडिकेट बैंक के साथ विलय) – बैंगलोर
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (आंध्र बैंक और कॉर्पोरेशन बैंक के साथ विलय) – मुंबई
  • इंडियन ओवरसीज बैंक – चेन्नई
  • यूको बैंक – कोलकाता
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र – पुणे
  • पंजाब एंड सिंध बैंक – नई दिल्ली
  • बैंक ऑफ इंडिया – मुंबई
  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया – मुंबई
  • बैंक ऑफ बड़ौदा – गुजरात

निजी क्षेत्र के बैंक

निजी क्षेत्र के बैंकों के नाम – मुख्यालय

  • एक्सिस बैंक – मुंबई, महाराष्ट्र
  • कोटक महिंद्रा बैंक – मुंबई, महाराष्ट्र
  • आईसीआईसीआई बैंक – वडोदरा, गुजरात
  • एचडीएफसी बैंक – मुंबई, महाराष्ट्र
  • बंधन बैंक – कोलकाता, पश्चिम बंगाल
  • सीएसबी बैंक – त्रिशूर, केरल
  • सिटी यूनियन बैंक – तंजावुर, तमिलनाडु
  • डीसीबी बैंक – मुंबई, महाराष्ट्र
  • धनलक्ष्मी बैंक – त्रिशूर, केरल
  • फेडरल बैंक – कोच्चि, केरल
  • आईडीबीआई बैंक – मुंबई, महाराष्ट्र
  • आईडीएफसी फर्स्ट बैंक – मुंबई, महाराष्ट्र
  • इंडसइंड बैंक – मुंबई, महाराष्ट्र
  • कर्नाटक बैंक – मंगलुरु, कर्नाटक
  • करूर वैश्य बैंक – करूर, तमिलनाडु
  • नैनीताल बैंक – नैनीताल, उत्तराखंड
  • आरबीएल बैंक – मुंबई, महाराष्ट्र
  • साउथ इंडियन बैंक – त्रिशूर, केरल
  • तमिलनाडु मर्केंटाइल बैंक – थूथुकुडी, तमिलनाडु
  • यस बैंक – मुंबई, महाराष्ट्र

क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (आरआरबी)

बैंक का नाम – मुख्यालय

  • आंध्र प्रदेश ग्रामीण विकास बैंक – वारंगल, तेलंगाना
  • आंध्र प्रगति ग्रामीण बैंक – कडपा, आंध्र प्रदेश
  • चैतन्य गोदावरी ग्रामीण बैंक – गुंटूर, आंध्र प्रदेश
  • सप्तगिरी ग्रामीण बैंक – चित्तूर, आंध्र प्रदेश
  • अरुणाचल प्रदेश ग्रामीण बैंक – ईटानगर, अरुणाचल प्रदेश
  • असम ग्रामीण विकास बैंक – गुवाहाटी, असम
  • दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक – पटना, भारत
  • उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक – मुजफ्फरपुर, भारत
  • छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक – रायपुर
  • बड़ौदा गुजरात ग्रामीण बैंक – वडोदरा
  • सौराष्ट्र ग्रामीण बैंक – राजकोट
  • सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक – रोहतक, हरियाणा
  • हिमाचल प्रदेश ग्रामीण बैंक – मंडी, हिमाचल प्रदेश
  • एलाक्वाई देहाती बैंक – श्रीनगर, जम्मू और कश्मीर
  • जम्मू और कश्मीर ग्रामीण बैंक – जम्मू, जम्मू और कश्मीर
  • झारखंड राज्य ग्रामीण बैंक – रांची
  • प्रगति कृष्णा ग्रामीण बैंक – बल्लारी, कर्नाटक
  • कर्नाटक विकास ग्रामीण बैंक – धारवाड़, कर्नाटक
  • केरल ग्रामीण बैंक – मलप्पुरम, केरल
  • मध्य प्रदेश ग्रामीण बैंक – इंदौर
  • मध्यांचल ग्रामीण बैंक – सागर, मध्य प्रदेश
  • महाराष्ट्र ग्रामीण बैंक – औरंगाबाद, भारत
  • विदर्भ कोंकण ग्रामीण बैंक – नागपुर
  • मणिपुर ग्रामीण बैंक – इंफाल, मणिपुर
  • मेघालय ग्रामीण बैंक – शिलांग
  • मिजोरम ग्रामीण बैंक – आइजोल, मिजोरम
  • नागालैंड ग्रामीण बैंक – कोहिमा
  • ओडिशा ग्राम्य बैंक – भुवनेश्वर, भारत
  • उत्कल ग्रामीण बैंक – बोलांगीर, भारत
  • पुदुवई भारथिअर ग्राम बैंक – पांडिचेरी, भारत
  • पंजाब ग्रामीण बैंक – कपूरथला, पंजाब
  • राजस्थान मरुधरा ग्रामीण बैंक – जोधपुर
  • बड़ौदा राजस्थान क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक – अजमेर
  • तमिलनाडु ग्राम बैंक – सेलम, तमिलनाडु
  • तेलंगाना ग्रामीण बैंक – हैदराबाद, तेलंगाना
  • त्रिपुरा ग्रामीण बैंक – अगरतला, भारत
  • आर्यावर्त बैंक – लखनऊ, उत्तर प्रदेश
  • बड़ौदा यूपी बैंक – अयोध्या, उत्तर प्रदेश
  • प्रथम यूपी ग्रामीण बैंक – मुरादाबाद, उत्तर प्रदेश
  • उत्तराखंड ग्रामीण बैंक – देहरादून, उत्तराखंड
  • बंगिया ग्रामीण विकास बैंक – बरहामपुर, पश्चिम बंगाल
  • पश्चिम बंगा ग्रामीण बैंक – हावड़ा, पश्चिम बंगाल
  • उत्तरबंगा क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक – कूचबिहार, पश्चिम बंगाल

विदेशी बैंक

  • डीबीएस बैंक
  • स्टेट बैंक ऑफ मॉरीशस
  • बैंक ऑफ चीन
  • अबू धाबी
  • बैंक ऑफ अमेरिका
  • वाणिज्यिक बैंक
  • सिटी बैंक इंडिया
  • चीन के औद्योगिक और वाणिज्यिक बैंक
  • स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक
  • एबी बैंक
  • क्रेडिट सुइस
  • एचएसबीसी बैंक इंडिया
  • अमेरिकन एक्सप्रेस
  • ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड बैंकिंग समूह
  • बार्कलेज
  • बैंक ऑफ बहरीन और कुवैत
  • बैंक ऑफ सीलोन
  • बैंक ऑफ नोवा स्कोटिया
  • बीएनपी पारिबास
  • क्रेडिट एग्रीकोल कॉर्पोरेट और निवेश बैंक
  • सीटीबीसी बैंक
  • देउत्शे बैंक
  • अमीरात एनबीडी
  • पहला अबू धाबी बैंक
  • फर्स्टरैंड बैंक
  • कोरिया के औद्योगिक बैंक
  • जेपी मॉर्गन चेस
  • केईबी हाना बैंक
  • कूकमिन बैंक
  • क्रुंग थाई बैंक
  • मिजुहो कॉर्पोरेट बैंक
  • एमयूएफजी बैंक
  • कतर नेशनल बैंक
  • राबोबैंक
  • सर्बैंक
  • शिनहान बैंक
  • सोसाइटी जनरल
  • सोनाली बैंक
  • सुमितोमो मित्सुई बैंकिंग कॉर्पोरेशन
  • यूनाइटेड ओवरसीज बैंक
  • वेस्टपैक
  • वूरी बैंक

आज आपने क्या सीखा

हम आशा करते है कि आपको हमारा लेख वाणिज्यिक बैंक (Commercial Bank) क्या है और इसके कार्य क्या हैं?वाणिज्यिक बैंकों के प्रकारवाणिज्यिक बैंक के कार्य समझ मे आ गया होगा। यदि इससे संबंधित आपका कोई भी सवाल हो तो आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है।

यदि आपको हमारा लेख वाणिज्यिक बैंक (Commercial Bank) क्या है और इसके कार्य क्या हैं? (Commercial Bank kya hai) पसंद आया हो आप अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है।

लगातार पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न 1- वाणिज्यिक या व्यापारिक बैंक कितने प्रकार के होते हैं?

वाणिज्यिक बैंक चार प्रकार के होते है सार्वजनिक या रास्ट्रीयकृत बैंक, प्राइवेट बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (आरआरबी) और विदेशी बैंक।

प्रश्न 2- वर्तमान में भारत में कितने राष्ट्रीयकृत बैंक हैं?

वर्तमान में भारत में 12 राष्ट्रीयकृत बैंक मौजूद हैं।

प्रश्न 3- भारत में कितने प्राइवेट बैंक हैं?

सितंबर 2021 तक, भारत में कुल 20 निजी बैंक हैं।

प्रश्न 4- कमर्शियल बैंक को हिंदी में क्या कहते है?

वाणिज्यिक बैंक

प्रश्न 5- व्यापारिक बैंक के प्रमुख कार्य क्या है?

व्यापारिक बैंक का मुख्य कार्य जनता से जमा स्वीकार करना और फिर उस धन को लोगों या व्यवसायों को लाभ कमाने के लिए ऋण के रूप में देना है।

प्रश्न 6- वाणिज्यिक बैंक कौन कौन सी है?

वाणिज्यिक बैंक में सार्वजनिक बैंक, प्राइवेट बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (आरआरबी) और विदेशी बैंक आते है। सभी वाणिज्यिक बैंकों के नाम इस लेख में दिए गए है।

Home: HindiGyyan

Leave a Comment