बजरंग पूनिया का जीवन परिचय। | Bajrang Punia Biography in Hindi

बजरंग पूनिया कौन है?

बजरंग पूनिया एक भारतीय फ्रीस्टाइल पहलवान हैं जो 65 किलोग्राम कैटेगरी में प्रतिस्पर्धा करते हैं। पूनिया विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में 3 पदक (Medals) जीतने वाले भारत के एकमात्र पहलवान हैं। वर्तमान में, पूनिया भारतीय रेलवे में एक राजपत्रित अधिकारी ओएसडी स्पोर्ट्स के रूप में कार्यरत हैं। बजरंग पुनिया ने 2020 ओलंपिक में कांस्य पदक जीता।

बजरंग पूनिया का जीवन परिचय

पूरा नामबजरंग पूनिया 
जन्म 26 फरवरी 1994
जन्म स्थानखुदान, झज्जर, हरियाणा,
भारत
आयु/उम्र27 वर्ष ( जुलाई 2021
तक )
व्यवसाय पहेलवान और रेलवे में
राजपत्रित अधिकारी
ओएसडी स्पोर्ट्स
राष्ट्रीयता भारतीय
कद (हाइट) 1.66 मीटर या 166
सेंटीमीटर
वजन 65 किलो
जीवनसाथीसंगीता फोगट (म. 2020)
पुरस्कार अर्जुन पुरस्कार (2015),
पद्म श्री पुरस्कार (2019),
राजीव गांधी खेल रत्न
पुरस्कार (2019) और
फिक्की इंडिया स्पोर्ट्स
अवार्ड 2020

खेल

देश भारत
खेल कुश्ती
श्रेणी 65 किलोग्राम
प्रतिस्पर्धा फ्री स्टाइल कुश्ती
कोच एमज़ारियोस
बेंटिनिडिस

पदक ( Medals )

विश्व प्रतियोगिता

पदकखेलश्रेणी
रजत
पदक
2018 बुडापेस्ट 65 Kg
कांस्य
पदक
2013 बुडापेस्ट 60 Kg
कांस्य
पदक
2019 नूर-सुल्तान 65 Kg

एशियाई खेल

स्वर्ण पदक2018 जकार्ता65 Kg
रजत पदक 2014 इनचान61 Kg

कामनवेल्थ गेम्स

स्वर्ण पदक2018 गोल्ड
कोस्ट
65 kg
रजत पदक2014 ग्लासगो61 kg

एशियाई चैम्पियनशिप

कांस्य
पदक
2013 नई दिल्ली60 Kg
रजत
पदक
2014 अस्ताना61 Kg
स्वर्ण
पदक
2017 नई दिल्ली65 Kg
कांस्य
पदक
2018 बिश्केक65 Kg
स्वर्ण
पदक
2019 शीआन65 Kg
रजत
पदक
2020 नई दिल्ली65 Kg
रजत
पदक
2021 अल्माटी65 Kg

विश्व U23 चैम्पियनशिप

रजत
पदक
2017 ब्याड
गोस्ज़कज़
65 Kg

कामनवेल्थ चैम्पियनशिप

स्वर्ण पदक2016 सिंगापुर 65 Kg
स्वर्ण पदक2017 ब्रेकपैन 65 Kg

एशियाई इंडोर और मार्शल आर्ट गेम्स

स्वर्ण पदक2017 अश्गाबात70 Kg

2020 ओलंपिक

कांस्य पदक2020 ओलंपिक

बजरंग पूनिया की जीवनी। | Bajrang Punia Biography in Hindi

बजरंग पूनिया का जन्म 26 फरवरी 1994 को हरियाणा राज्य के झज्जर जिले के खुदान गांव में हुआ था। उनके पिता एक पहलवान थे इसलिए उन्होंने पूनिया को कुश्ती में करियर बनाने के लिए प्रोत्साहित किया। पूनिया ने सात साल की उम्र से ही कुश्ती लड़ना शुरू कर दिया था। उन्होंने कुश्ती अभ्यास के लिए अपने स्कूल को भी छोड़ना शुरू कर दिया था। उनका परिवार 2015 में सोनीपत चला गया, ताकि वे भारतीय खेल प्राधिकरण के एक क्षेत्रीय केंद्र में भाग ले सकें।

अवार्ड (Awards)

  • अर्जुन पुरस्कार (2015)
  • पद्म श्री पुरस्कार (2019)
  • राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार (2019)
  • फिक्की इंडिया स्पोर्ट्स अवार्ड (2020)

करियर

2013 विश्व कुश्ती चैंपियनशिप

बजरंग ने हंगरी के बुडापेस्ट में पुरुषों के फ्रीस्टाइल 60 किग्रा कैटेगरी में एन्खसैखान नाम-ओचिर को 9-2 से हराकर कांस्य पदक जीता।

2014 एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप

उन्होंने कजाकिस्तान के अस्ताना में पुरुषों के फ्रीस्टाइल 61 किग्रा कैटेगरी में रजत पदक जीता।

2018 कॉमनवेल्थ गेम्स

उन्होंने गोल्ड कोस्ट, ऑस्ट्रेलिया में पुरुषों की फ़्रीस्टाइल 65 किग्रा कैटेगरी में स्वर्ण पदक जीता।

2018 एशियाई खेल

2018 के एशियाई खेलों में, उन्होंने पुरुषों के 65 किलोग्राम कैटेगरी स्पर्धा के फाइनल में जापानी पहलवान तकतानी दाइची को 11-8 से हराया।

2018 विश्व कुश्ती चैंपियनशिप

2019 में, उन्होंने विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में रजत पदक जीता इसके बाद उन्होंने 65kg कैटेगरी में विश्व में नंबर 1 स्थान प्राप्त किया।

2019 विश्व कुश्ती चैंपियनशिप

उन्होंने विश्व चैंपियनशिप में दूसरी बार कांस्य पदक जीता, जिसके साथ उन्होंने 65 किलोग्राम फ्रीस्टाइल कुश्ती स्पर्धा में टोक्यो 2020 ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया।

2021 माटेओ पेलिकोन रैंकिंग सीरीज

उन्होंने 2021 में रोम, इटली में आयोजित 65 kg कैटेगरी में स्वर्ण पदक जीता।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न 1- बजरंग पूनिया कौन हैं?

बजरंग पूनिया एक पहलवान हैं।

प्रश्न 2- बजरंग पूनिया का गांव का क्या नाम है?

खुदान गांव, हरियाणा के झज्जर जिले में।

प्रश्न 3- बजरंग पूनिया की पत्नी कौन है?

संगीता फोगट (पहेलवान)

Leave a Comment