बाल दिवस कब और क्यों मनाया जाता है? | When and why is Children’s Day celebrated in Hindi

बाल दिवस का अर्थ है बच्चों का दिन या एक ऐसा दिन जो पूरी तरह से बच्चों को समर्पित हो। इस लेख में हम चर्चा करेंगे कि बाल दिवस कब और क्यों मनाया जाता है?

बाल दिवस केवल भारत में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में मनाया जाता है, कई देशों में बाल दिवस पर स्कूलों में छुट्टी होती है और कई देशों में बाल दिवस पर स्कूलों में बच्चों के बीच खेल और प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है।

बाल दिवस कब और क्यों मनाया जाता है?

बाल दिवस प्रत्येक वर्ष 14 नवंबर को मनाया जाता है. जवाहरलाल नेहरू का जन्म आज ही के दिन 1889 में हुआ था। बाल दिवस बच्चों के अधिकारों, शिक्षा और सुरक्षा के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है।

1964 से पहले, भारत में बाल दिवस 20 नवंबर को सार्वभौमिक बाल दिवस के दिन मनाया जाता था। लेकिन 1964 में पंडित जवाहरलाल नेहरू की मृत्यु के बाद, भारत की संसद में एक प्रस्ताव पारित करके, जवाहरलाल नेहरू के जन्म अनवरसारी को बाल दिवस के रूप में घोषित किया गया। ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि नेहरू बच्चों के बीच काफी लोकप्रिय थे। दूसरा नेहरू ने बच्चों के अधिकार, सुरक्षा और शिक्षा की वकालत की थी।

नेहरू ने एक बार कहा था, “आज के बच्चे कल का भारत बनाएंगे”।

जवाहरलाल नेहरू

बाल दिवस की शुरुआत कब और कैसे हुई?

बाल दिवस का इतिहास 

बाल दिवस की शुरुआत सबसे पहले अमेरिका में 1957 में रेवरेंड डॉ. चार्ल्स लियोनार्ड ने की थी। उसके बाद संयुक्त राष्ट्र ने बाल दिवस के माध्यम से दुनिया भर में बच्चों के अधिकारों, शिक्षा और सुरक्षा के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए 20 नवंबर को सार्वभौमिक बाल दिवस की शुरुआत की।

इसलिए पूरी दुनिया 20 नवंबर को बाल दिवस मनाती है, लेकिन भारत मे बाल दिवस 14 नवंबर को मनाया जाता है।

बाल दिवस का महत्व 

बाल दिवस बच्चों के अधिकारों, देखभाल और शिक्षा के बारे में जागरूकता बढ़ाने का एक माध्यम है।

Leave a Comment